बनारस का एक ऐसा श्मशान घाट, जहां हर समय चिताएं जलती हैं

वाराणसी संवाद : काशी का मणिकर्णिका घाट एक ऐसा ही स्थान है जहां पहुंचकर व्यक्ति को अपने जीवन की असलियत पता चलती है। वह अपनी दुनिया में लाख मशगूल सही लेकिन जब Manikarnika Ghat पर शव को जलाया जाता है तो ये पूरी दुनिया ही बेमानी लगती है।

Manikarnika Ghat
Photo Source- Social Media

Varanasi में गंगा नदी के किनारे स्थित एक प्रसिद्ध घाट है। एक मान्यता के अनुसार माता पार्वती जी का कर्ण फूल यहाँ एक कुंड में गिर गया था, जिसे ढूढने का काम भगवान शंकर जी द्वारा किया गया, जिस कारण इस स्थान का नाम मणिकर्णिका पड़ गया। एक दूसरी मान्यता के अनुसार भगवान शंकर जी द्वारा माता पार्वती जी के पार्थीव शरीर का अग्नि संस्कार किया गया, जिस कारण इसे महाश्मसान भी कहते हैं। आज भी अहर्निश यहाँ दाह संस्कार होते हैं।

Manikarnika-ghat
Photo Source- Social Media

Manikarnika Ghat बनारस का एक ऐसा श्मशान घाट है, जहां हर समय चिताएं जलती ही रहती हैं। ऐसा कहा जाता है कि जिस दिन इस घाट पर चिता नहीं जली वह बनारस के लिए प्रलय का दिन होगा।

Manikarnika Ghat,_Varanasi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *