कानपुर: राजकीय बालगृह में 57 लड़कियों को कोरोना, 7 नाबालिग लड़कियां प्रेग्नेंट, SSP ने दी सफाई

संवाद न्यूज़ नेटवर्क

कानपुर के स्वरूप नगर स्थित बालिका संरक्षण गृह से 7 नाबालिग लड़कियों के गर्भवती होने का मामला सामने आते ही जिला प्रशासन के हांथ-पांव फूल गए हैं। दरअसल ये खुलासा तब हुआ है जब बालिका संरक्षण गृह में कोरोना संक्रमित लड़कियों की पुष्टि हुई। बालिका संरक्षण गृह में रह रहीं 57 लड़कियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि की गई है।

वहीं जिला प्रशासन का ये कहना है कि नाबालिग लड़कियां यहां आने से पहले ही गर्भ धारण कर चुकी थीं। वहीं इस बात की भी पुष्टि हुई है कि जो 7 नाबालिग लड़कियां गर्भवती हैं उनमें से 5 कोरोना से संक्रमित भी हैं। मिली जानकारी के अनुसार एक लड़की में 8 महीने तथा एक अन्य लड़की में साढ़े आठ महीने का गर्भ है।

इन दोनों लड़कियों को हैलट के जच्चा-बच्चा अस्पताल के लिए भेज दिया गया है। वहीं जांच के दौरान इस बात का भी खुलासा हुआ है कि इनमें से एक HIV संक्रमित भी है तो वहीं दूसरी हेपेटाइटिस सी से प्रभावित है। इन दोनों पर कड़ी नजर रखते हुए इनके विषय में अन्य जानकारी की जा रही है।

इस पूरे प्रकरण पर जानकारी देते हुए SSP दिनेश कुमार पी ने कहा कि जब इन बालिकाओं को संरक्षण गृह में लाया गया था ये उसी वक्त गर्भ धारण कर चुकी थीं। उन्होंने आगे कहा कि पॉक्सो एक्ट के अंतर्गत एक लड़की आगरा से तथा एक कन्नौज से कानपुर आई है।

ये दोनों पहले से ही गर्भवती थीं। वहीं वर्ष 2019 के दिसंबर माह में ही इनको संरक्षण गृह भेज दिया गया था। उन्होंने कहा कि दोनों लड़कियों को 6 महीने पहले ही संरक्षण गृह लाया गया है जबकि गर्भ तो 8 महीने का है।

वहीं इस प्रकरण पर जिलाधिकारी ने भी ट्विट करते हुए कहा कि कानपुर संवासिनी गृह को लेकर कुछ लोगों द्वारा गलत अफवाह फैलाई जा रही है। इस वक्त् आपदाकाल चल रहा है और ऐसे में इस तरह का काम संवेदनहीनता की श्रेणी में आता है।

ये भी पढ़े: लद्दाख हिंसा पर वायुसेना प्रमुख ने कहा- जांबाजों का बलिदान नहीं जाने देंगे व्यर्थ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.