यूपी में ठंड का कहर शुरू, 24 घंटे में तीन डिग्री सेल्सियस पारा लुढ़का

संवाद न्यूज ब्यूरो

 

वाराणासी: धीरे-धीरे ठंड का असर बढ़ने लगा है। सोमवार को अधिकतम तापमान 23.5 और न्यूनतम 9.6 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया है। पिछले 24 घंटे में न्यूनतम तापमान में करीब तीन डिग्री सेल्सियस की गिरावट आई है। रविवार को न्यूनतम तापमान 12.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

 

न्यूनतम तापमान में कमी आने और पछुआ हवा के चलने से पिछले दिनों के मुकाबले ठंड का अहसास अधिक हो रहा है। सूर्यास्त के बाद गलन बढ़ी है। दिन में हल्के बादल होने से भी तापमान में कमी आई। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि ठंड अब धीरे-धीरे और बढ़ेगी। पश्चिमी विक्षोभ का असर कम हुआ है। धीरे-धीरे यह क्लीयर हो जाएगा। मगर दूसरा पश्चिमी विक्षोभ पाकिस्तान और अफगानिस्तान की सीमा पर सक्रिय हो रहा है। जब यह कश्मीर की तरफ बढ़ेगा तब उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में शीतलहरी चल सकती है। यह स्थिति दो-तीन दिन के भीतर आने के अनुमान हैं।

 

मौसम वैज्ञानिक प्रो.बीआरडी गुप्ता का कहना है एक के बाद एक पश्चिमी विक्षोभ आने से ठंड की निरंतरता बनी रहेगी। अब ठंड का अगाज हो गया है। प्रो.गुप्ता का मानना है कि न्यूनतम तापमान का कम होना उतना खतरनाक नहीं है जितना अधिकतम का। अधिकतम तापमान में कमी आने एक्सपोजर का अधिक खतरा रहता है।

 

प्रो.बीआरडी गुप्ता का कहना है कि पिछले वर्षों के मौसम के पैटर्न को देखें तो उससे साफ पता चलता है कि दिसंबर के अखिरी दिनों से कड़ाके की ठंड पड़नी शुरू हो जाती है। जनवरी में पारा गोता लगाने लगता है। इस साल भी यही पैटर्न दिखाई दे रहा है। इसलिए कहा जा सकता है कि नए साल के पहले दिन से कड़ाके की ठंड का एहसास होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *