प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी को अरविन्द केजरीवाल से मिली फटकार

संवाद न्यूज ब्यूरो

बीते दिनों पहले एक ऐसी घटना जिसने हैवानियत की हद पार कर दी। ये घटना है शालीमार बाग के मैक्स हॉस्पिटल की जहां एक जिंदा बच्चे को मरा हुआ बताकर परिजनों को सौंप दिया गया। हालांकि दिल्ली सरकार ने मैक्स हॉस्पिटल के लाइसेंस को रद्द कर दिया था। इस हॉस्पिटल में इससे पहले भी काफी गड़बड़ियां मिल चुकी हैं।

लाइसेंस रद्द करने के अरविंद केजरीवाल के इस कदम की काफी सराहना की गई थी। वहीं बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने इस बात का विरोध करते हुए कहा कि सरकार को लाइसेंस रद्द करने का कदम नहीं उठाना चाहिए।

मनोज तिवारी के इस बयान पर केजरीवाल ने रविवार को उन्हें आड़े हाथों ले लिया। उन्होंने कहा, ‘मनोज तिवारी और बीजेपी ने मैक्स अस्पताल का समर्थन करके अपना जमीर बेच दिया है।’ मुंडका में आयोजित एक कार्यक्रम में केजरीवाल ने ये बातें कही थीं।

केजरीवाल ने कहा, ‘अगर वह चाहते तो मैक्स से सेटिंग करके तगड़ा पैसा ले सकते थे। लेकिन फिर वह दिल्लीवालों को अपनी शक्ल नहीं दिखा पाते।’ केजरीवाल ने कहा कि लाइसेंस रद्द होने से दूसरे कई बड़े अस्पतालों को भी सबक मिलेगा।

सरकार के कदम को लेकर डॉक्टरों की नाराजगी की खबरें सामने आने के बाद केजरीवाल ने सफाई देते हुए यह भी कहा, ‘हम किसी भी डॉक्टर के खिलाफ नहीं हैं। वे मानवता की सेवा करते हैं और इसलिए हम उनकी इज्जत करते हैं, लेकिन शनिवार को मेरे पास कई डॉक्टर आए थे और कह रहे थे कि हमने अच्छा किया।

क्योंकि ये बड़े-बड़े अस्पताल अपने यहां काम करने वाले डॉक्टरों को भी पूरी पमेंट नहीं करते हैं। मुझसे मिलने आए डॉक्टरों का कहना था कि सरकार के इस कड़े कदम से ऐसे अस्पतालों को भी सबक मिलेगा और अब सारे अस्पताल ठीक से काम करेंगे।

केजरीवाल ने बिजली कंपनियों का हवाला देते हुए कहा कि चाहे बिजली या पानी मुहैया कराने वाली कोई बड़ी कंपनी हो या कोई अस्पताल हो, हम किसी के खिलाफ नहीं हैं। हमारा सिर्फ इतना कहना है कि अपना काम ईमानदारी से करो, जनता की सेवा करो, हम आपके साथ खड़े हैं। लेकिन अगर कोई भी जनता को लूटने की कोशिश करेगा, तो हम चुप नहीं रह सकते इसलिए हमें मजबूर मत करना।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *