ये क्या कह गए मंत्री जी, योगी सरकार की जमकर हुई किरकिरी

संवाद न्यूज ब्यूरो

 

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में सत्ता की कमान संभाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जिस तरह अपने कार्यकुशलता का परिचय देते हैं तो वहीं दूसरी तरफ नगर विकास राज्यमंत्री ने उनकी जमकर किरकिरी कर दी। नगर विकास राज्यमंत्री से कुछ सवाल भी पूछे गए लेकिन वो उन सवालों का जवाब तो नहीं दे पाए लेकिन योगी सरकार को आड़े हाथ ले लिया।

 

विधान परिषद में सोमवार को नगर विकास राज्यमंत्री गिरीश यादव ने योगी सरकार की किरकिरी करा दी। विपक्ष के सवालों का ठीक से जवाब न दे पाने के कारण सभापति रमेश यादव ने प्रश्न स्थगित कर दिया। दरअसल, शिक्षक दल के सदस्य जगवीर किशोर जैन ने अलीगढ़ की नगर निगम टीम द्वारा घरों में प्राप्त डेंगू के लार्वा की जांच कराए जाने के संबंध में प्रश्न पूछा था, लेकिन इस प्रश्न में मंत्री गिरीश यादव एक भी सूचना नहीं दे पाए।

 

उन्होंने कहा कि इस प्रश्न की सूचनाएं एकत्र की जा रही हैं। सदस्यों ने कहा कि यह प्रश्न तीन महीने पहले लगाया गया था तब से सरकार सूचना ही एकत्र करवा रही है। इसके बाद अनुपूरक प्रश्नों का भी मंत्री जवाब नहीं दे पाए। सदस्यों ने इस प्रश्न को निरस्त करने की मांग की। इस पर सभापति रमेश यादव ने इस प्रश्न को स्थगित कर दिया।

 

वन मंत्री दारा सिंह चौहान ने बताया कि प्रदेश में केवल छह प्रतिशत भूमि ही वनों से आच्छादित है। सरकार पर्यावरण की रक्षा के लिए वनों के संरक्षण के उपाय कर रही है। वन मंत्री ने यह जवाब सोमवार को विधान परिषद में एक प्रश्न के उत्तर में दिया।

 

नेता विरोधी दल अहमद हसन ने कहा कि भाजपा केवल लक्ष्य निर्धारित करती है, काम कभी नहीं करती। साधारण ट्रेन की पटरियां उससे संभलती नहीं और बुलेट ट्रेन चलाने का लक्ष्य है। इसी तरह लखनऊ मेट्रो का उद्घाटन होने के बाद भाजपा सरकार ने फिर उद्घाटन करवा दिया। दरअसल, नेता विरोधी दल सपा सदस्य आनन्द भदौरिया के प्रश्न पर सरकार का जवाब आने के बाद बोल रहे थे।

 

इसमें नेता सदन डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि लखनऊ मेट्रो अपने निर्धारित लक्ष्य अप्रैल 2019 से पहले मुंशी पुलिया तक संचालित हो जाएगी। अभी तक 58 फीसद भौतिक प्रगति हो गई है। उन्होंने बताया कि मुंशी पुलिया से इंजीनियरिंग कॉलेज और उसके बाद इंटीग्रल यूनिवर्सिटी तक विस्तारीकरण की कोई योजना नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *