SSC SCAM:आखिर कब तक सरकार सड़कों पर न्याय मांगने उतरे युवाओं का खून बहाएगी ?

संवाद न्यूज़ डेस्क 

आज बात 21वीं सदी की होगी। वो 21वीं सदी जिसमें बेरोजगारी से आज हर युवा वर्ग परेशान है। इस 21वीं सदी में हम कहां से चले और कहां आ गए? बेरोजगारी एक ऐसा जहर बन चुकी है जो युवाओं की जान लेने में भी कोई कसर बाकी नहीं छोड़ती है। सियासत के तख्ते पर चढ़कर बैठे नेता युवाओं से ये दलील देते रहते हैं कि मैं जब सत्ता की कमान संभाल लूंगा तो युवाओं के लिए रोजगार का सुनहरा अवसर प्रदान करूंगा। लेकिन अफसोस तो इस बात का है कि चुनाव जीतते ही तख्ते पलट जाते हैं और नतीजा ये होता है कि बेरोजगारी की मार से तड़पते युवा वर्ग सिर्फ और सिर्फ खुदखुशी का ही रास्ता चुनते हैं। अगर वाकई ऐसी स्थिति है 21वीं सदी में तो जरा सोचीए हालात किधर जा रहे हैं? अगर आंकड़ों को मिलाया जाए तो कहीं ज्यादा बेरोजगार छात्रों के खुदखुशी की कतारें देखने को मिल रही हैं। ये एक ऐसा सच है जिसको देश भी अनदेखा कर रहा है और मूक दर्शक बनकर सिर्फ मौत का तमाशा देख रहा है। सरकारी संगठन NCRB के आंकड़ों को अगर समझें तो 21वीं सदी मानो मौत की सदी हो चली है

कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) की संयुक्त ग्रेजुएट लेवल परीक्षा में हुई धांधली की सीबीआई से जांच कराने की मांग को लेकर शनिवार को संसद मार्ग पर प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया, जिसमें कई छात्रों को गंभीर चोटें भी आईं हैं। पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में ले लिया है। इससे पहले संसद मार्ग पर मार्च निकाल रहे छात्रों और पुलिस के बीच झड़प भी हुई। प्रदर्शन में देशभर से छात्र हुए हैं। संयुक्त ग्रेजुएट लेवल परीक्षा में हुई धांधली की सीबीआई से जांच कराने और केन्द्रीय कार्मिक राज्यमंत्री जितेन्द्र सिंह के इस्तीफे की मांग को लेकर देशभर के छात्र 27 फरवरी से एसएससी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं।

छात्रों का कहना है कि सरकार द्वारा उन्हें जांच का आश्वासन दिया गया था, लेकिन अभी तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई। इस मामले में हीला हवाली से छात्रों में सरकार के खिलाफ जबरजस्त गुस्सा है। शनिवार को नई दिल्ली में हजारों की तादाद में जुटे छात्रों ने संसद मार्ग पर जोरदार प्रदर्शन किया। संसद मार्ग से हटाए जाने के बाद हजारों छात्रों का हुजूम जनपथ पहुंच गया। छात्रों ने जनपथ से लेकर कनॉट प्लेस तक सड़क जाम कर दिया। जनपथ से छात्रों को हटाने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया। हालांकि अभी भी कनॉट प्लेस पर बड़ी तादाद में छात्रों का हुजूम मौजूद है। छात्रों का कहना है कि इसंाफ मिलने तक वे वहीं पर डटे रहेंगे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.