कोरोना ने बढ़ाई सोने की चमक, भारत में सोने की चांदी!

दुनिया में कोरोना वायरस दहशत का सबब बना हुआ है, लेकिन भारत के लिए यह खुशी की वजह बन गया है। आर्थिक तबाही की आशंकाओं से घिरे वैश्विक बाजार के बीच भारत में सोने की चांदी हो गई है। सोना ही नहीं चांदी की भी बल्ले-बल्ले है।

गोल्ड के प्रति इन्वेस्टर्स का रुझान बढ़ने की वजह से सोने के भाव शुक्रवार को अंतर्राष्ट्रीय बाजार में सात साल के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचे गये। वहीं भारत में भी इसे छलांग लगाकर नया रिकॉर्ड कायम कर दिया। यहां के सबसे बड़े वायदा बाजार मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज यानी एमसीएक्स पर सोने का भाव 42,790 रुपये प्रति 10 ग्राम तक उछला। यह अब तक का रिकॉर्ड स्तर है।

दूसरी ओर, अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार कॉमेक्स पर सोने का दाम 1,651.85 डॉलर प्रति औंस जा पहुंचा। यह फरवरी 2013 के बाद का सबसे ऊंचा स्तर है। कमोडिटी विशेषज्ञों की मानें तो कोरोना वायरस के कारण चीन की अर्थव्यवस्था सुस्त रहने की आशंकाओं है। इन आशंकाओं के बीच निवेशकों का रुझान सुरक्षित निवेश की ओर बढ़ा है। ऐसे में सोना उनके लिए निवेश का बेहतरीन विकल्प बन गया।

शुक्रवार को रात 10.08 बजे एमसीएक्स पर सोने के अप्रैल वायदा अनुबंध में 504 रुपये का इजाफा हुआ। इसके साथ ही 42,543 रुपये प्रति 10 ग्राम पर कारोबार पहुंच गया। इससे पहले सोने का भाव 42,790 रुपये प्रति 10 ग्राम पहुंच चुका था। सोने की चमक ने चांदी की कीमतें भी बढ़ा दीं।

चांदी के मार्च एक्सपायरी अनुबंध में 311 रुपये की तेजी आई। इसका कारोबार 48,209 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गया। इससे पूर्व चांदी के दाम 48,589 रुपये प्रति किलो तक पहुंचा था। अंतर्राष्ट्रीय बाजार की बात करें तो कॉमेक्स पर सोने के अप्रैल अनुबंध में पिछले सत्र के मुकाबले 21.65 डॉलर मतलब 1.34 फीसदी की तेजी दर्ज हुई। इसका कारोबार 1,642.15 डॉलर प्रति औंस चल रहा था।

वहीं इससे पहले सोने की कीमत कॉमेक्स पर 1,651.85 डॉलर प्रति औंस थी। कॉमेक्स पर चांदी भी बीते सत्र के मुकाबले 0.78 फीसदी की तेजी के साथ 18.46 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *