रिफाइनरी का शिलान्यास करने बाड़मेर पहुंचे मोदी, मंच से ही कांग्रेस पर भी चले शब्दबाण

संवाद न्यूज ब्यूरो

 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज राजस्थान में बाड़मेर जिले के पचपदरा में लगने वाली रिफाइनरी का शिलान्यास करने पहुंचे हैं। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे भी इस मौके पर मौजूद हैं। रिफाइनरी तैयार होकर ऑपरेशन में आने में करीब चार साल का समय लगेगा। पीएम मोदी को यहां सुनने और देखने के लिए भारी भीड़ मौजूद है। पीएम मोदी इस समय लोगों को संबोधित कर रहे हैं। यहां है भाषण की मुख्य बातें-

LIVE UPDATES:

पीएम मोदी ने कहा- 40 साल से ‘वन रैंक वन पेंशन’ की मांग हो रही थी। हमने घोषणा की कि सरकार आएगी तो ‘वन रैंक, वन पेंशन’ योजना को लागू करेगी। तो उन्होंने अंतरिम बजट में 500 करोड़ रूपया ‘वन रैंक, वन पेंशन’ के नाम पर लिख दिया। आपको जानकर हैरानी होगी कि वन ‘वन रैंक, वन पेंशन’ पर भी नहीं था। ना सूची थी, ना योजना थी, सिर्फ चुनावी वादा था। कागज पर चीजें इकट्ठी करते-करते मुझे डेढ साल लग गए। पूर्व सैनिकों के नाम तक नहीं मिल रहे थे और मैं हैरान था। जब हमने OROP का हिसाब लगाया तो 12 हजार करोड़ रूपये का हिसाब सामने आया। इसके बाद समस्या ये थी कि सरकार के पास इतना पैसा नहीं था कि एक साथ 12 हजार करोड़ खर्च किए जाए।  इसके बाद मैंने फौज के लोगों से बातचीत करके और समय मांगा।

पीएम मोदी ने कहा- कई सरकारें आईं और गईं। रेलवे बजट में 1500 से ज्यादा ऐसी योजनाओं की घोषणा की गई जिसका आज नामोंनिशान नहीं हैं, वो योजनाएं ऐसे ही कागज पर लटकी पड़ी हैं। हमने फैसला किया कि कुछ पल तालियां बजवाने के लिए हम ये नहीं करेंगे। हमने झूठी तालियां बजवाने का कार्यक्रम बंद करा दिया। जितना करना है वही बताइए। एक दिन आलोचना होगी लेकिन देश को धीरे-धीरे ताकत आएगी।

पीएम मोदी ने कहा- जहां कांग्रेस होती है वहा अकाल होता है। लेकिन वसुंधरा जी के भाग्य में लिखा हुआ है कि जब भी उन्हें सेवा करने का मौका मिला इस सूखी धरती पर पानी मिलता रहा। हमें इससे भी आगे जाना है। राजस्थान को आगे लेकर जाना है। बड़ी-बड़ी बातें करना, जनता को गुमराह करना ये सब उनके स्वभाव का हिस्सा है। ये सिर्फ बाड़मेर से जुड़ा हुआ मसला नहीं है।

पीएम मोदी ने कहा- ये समय संकल्प से सिद्धि लेने का समय है और मुझे विश्वास है आज जो रिफाइनरी का उद्घाटन हुआ है, 2022 तक इसका कार्य पूर्ण हो जायेगा। 2022 तक सपनों का भारत बनाएंगे। 2022 में आजादी के दीवानों का भारत बनाएंगे।

पीएम मोदी ने कांग्रेस के आरोपों पर जवाब दिया- पत्थर लगाने से नहीं, कार्य आरंभ करने से काम होता है

पीएम मोदी ने कहा- मकर संक्रांति के पर्व के बाद राजस्थान की धरती पर पूरे हिंदुस्तान को ऊर्जावान बनाने का एक अहम प्रयास है। मुझे खुशी है कि पूरे क्षेत्र की विकास यात्रा में शरीक होने का सौभाग्य मुझे प्राप्त हुआ है। जब मुझे प्रोजेक्ट की डिटेल मिली तो मैंने उद्घाटन की तारीख पूछी। मुझे विश्वास दिया गया है कि 2022 तक ये काम पूरा हो जाएगा।

43 हजार करोड़ की लागत से एचपीसीएल और राजस्थान सरकार की संयुक्त परियोजना के तहत 4500 एकड़ जमीन में रिफाइनरी कम पेट्रो कैमिकल्स का निर्माण किया जा रहा है। परियोजना में एचपीसीएल का हिस्सा 74 फीसदी होगा, वहीं राजसथान सरकार की हिस्सेदारी 26 फीसदी होगी।

कांग्रेस ने उठाए सवाल

दरअसल कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी 2013 में ही इस रिफाइनरी का शिलान्यास कर चुकी हैं। पीएम मोदी के कार्यक्रम का ना भी शिलान्यास कार्यक्रम था, लेकिन विवाद के बाद नाम बदलकर शुभारंभ कार्यक्रम कर दिया है। राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि इस कार्यक्रम का दोबारा शिलान्यास कराकर पीएम मोदी अपने पद की गरिमा को गिरा रहे हैं। बीजेपी आने वाले विधानसभा चुनाव में इसका फायदा उठाना चाहती है।

राजस्थान के पास तेल एवं गैस का भंडार है। पचपदरा में बनने वाली रिफाइनरी राजस्थान की पहली रिफाइनरी होगी। रिफाइनरी की सालाना क्षमता 90 लाख मैट्रिक टन होगी और परियोजना में 43 हजार करोड़ रुपये खर्च होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.