डॉक्टर ने सैलरी मांगी तो उसे नौकरी से निकाला, अब पत्नी के साथ ठेले पर बेच रहा चाय

संवाद न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली : जहां एक तरफ देश के डॉक्टर तथा अन्य स्टाफ अपनी जान जोखिम में डालकर कोरोना संक्रमित लोगों का इलाज कर रहे हैं वहीं उनके साथ अभद्रता करने वालों की भी कमी नहीं है। स्वास्थ्य विभाग के बड़े अधिकारी खुद के पद का गलत प्रयोग करते हुए इन मेहनत करने वाले डॉक्टरों से मर्यादित ढंग से पेश भी नहीं आते हैं और जब ये डॉक्टर अपनी मेहनत की कमाई के लिए मुंह खोलते हैं तो ये बड़े अधिकारी या तो उनका दूसरे जगहों पर तबादला कर देते हैं या फिर उनको नौकरी से निकालने के लिए उनके अंदर कमियां खोजने लगते हैं।

कुछ ऐसा ही मामला करनाल जिले से सामने आया है जहां पाया गया कि एक पढ़ा लिखा डॉक्टर अपनी नवविवाहित पत्नी के साथ ठेले पर चाय बेचता हुआ नजर आया। इस पीड़ित डॉक्टर का नाम गौरव वर्मा है जो एक प्राइवेट हॉस्पिटल में कार्यरत थे। उन्होंने अपना दुख जाहिर करते हुए बताया कि उनके दो महीने की तनख्वाह नहीं मिली थी। जब उन्होंने इसका जिक्र किया तो बदले में उनका तबादला किया गया।

ये भी पढ़े: कोरोना के बीच अम्फान का तूफ़ान, 85 KM की रफ़्तार से टकराने का अलर्ट

इसके बाद जब उन्होंने इस हरकत का विरोध जताया तो उनको नौकरी से ही निकाल दिया गया। उन्होंने इस अस्पताल के खिलाफ सरकार से कार्रवाई करने की गुहार लगाई है। फिलहाल वो इस वक्त करनाल के सेक्टर-13 में चाय का ठेला लगाकर तथा अस्पताल का ही ड्रेस पहनकर लोगों को चाय पिला रहे हैं।

डॉक्टर गौरव का कहना है कि इस पूरे घटनाक्रम के बारे में कंपनी मुख्यालय से चर्चा की गई लेकिन उनकी किसी ने नहीं सुनी। पहले तो उनका ट्रांसफर गाजियाबाद के लिए कर दिया गया और बाद में विरोध करने पर उनको नौकरी से ही निकाल दिया गया।

जब डॉक्टर गौरव की कहीं सुनवाई नहीं हुई तो उन्होंने हरियाणा सीएम विंडो पर भी शिकायत दर्ज करवाई लेकिन वहां भी निराशा ही हांथ लगी जिसके बाद डॉक्टर ने उस अस्पताल के सामने ही चाय का ठेला लगा दिया और चाय बेचने लगे।

वहीं इस पूरे घटना क्रम पर सिविल सर्जन डॉक्टर अश्विनी आहूजा ने जानकारी देते हुए कहा कि इस मामले की गहनता से जांच होगी। तुरंत कुछ भी निर्णय लेना या कह पाना थोड़ी जल्दबाजी होगी। जांच पूरी होने के बाद ही मामला स्पष्ट हो पाएगा। फिलहाल मेरे पास शिकायत आ गई है।

वहीं अस्पताल के प्रमुख ने भी बयान देते हुए कहा है कि लॉकडाउन के कारण तनख्वाह देने में समस्या आ रही है। डॉक्टर गौरव ने जो भी बयान दिए हैं वो बिल्कुल गलत हैं। प्रमुख ने ये भी कहा है कि गौरव कई बार गैरकानूनी कामों में भी संलिप्त पाए गए हैं जिसके बाबत उनको लगभग 4 बार नोटिस दी जा चुकी है। जब कंपनी के बड़े अधिकारी उनके पास गए तो उन्होंने मिलने भी साफ मना कर दिया।

ये भी पढ़े: जानिए लॉकडाउन 4.0 में सोमवार से क्या खुलेगा और किस पर रहेगी पाबंदी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.