जानें वाराणसी के अस्सी घाट के बारे में- Assi Ghat Varanasi

अस्सी घाट, प्राचीन नगरी काशी वाराणसी का एक घाट है। यह घाट नदी के दक्षिणी क्षेत्र में स्थित है। इसके पास कई मंदिर ओर अखाड़े हैं. असीघाट के दक्षिण में जगन्नाथ मंदिर है जहाँ प्रतिवर्ष मेला लगता है. अस्‍सी घाट, पर्यटकों, शोधकर्ताओं, इजरायल के सैनिकों का पसंदीदा गंतव्‍य स्‍थल है,

Photos – Social Media

अस्सी घाट के बारे में

इसका नामकरण अस्सी नामक प्राचीन नदी के गंगा के साथ संगम के स्थल होने के कारण हुआ है। एक पौराणिक कथा के अनुसार, देवी दुर्गा ने राक्षस शुम्‍भा – निशुम्‍भा का वध करने के बाद यहां ही अपनी तलवार को फेंका था, यह राक्षस बहुत भयानक था। माना जाता है कि वह तलवार जिस स्‍थान पर गिरी, वहां से अस्‍सी नदी का क्षेत्र शुरू हो जाता है।

Assi_Ghat_Varanasi_morning_Aarti
Photos from Social Media

अस्सी और गंगा का संगम विशेष रूप से पवित्र माना जाता है. यहाँ काशी खंडोक्त संगमेश्वर महादेव का मंदिर है ।अस्सी घाट काशी के पांच तीर्थों में से यह एक है. इस घाट का वर्णन कई हिंदू धार्मिक ग्रंथों और पुराणों जैसे – मत्‍स्‍य पुराण, अग्नि पुराण, काशी कांड और पद्म पुराण आदि में मिलता है। इस घाट पर पीपल के वृक्ष के नीचे भगवान शिव की शिवलिंग भी है और भगवान अस्‍सींगमेश्‍वारा का मंदिर भी है जिन्‍हे दो नदियों के प्रवाह और संगम का देवता माना जाता है।

Assi_Ghat_Varanasi_

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *