महिला पत्रकार ने इस न्यूज़ चैनल के CEO पर लगाया बलात्कार करने का आरोप, जानें पूरा मामला

संवाद न्यूज़ ब्यूरो दिल्ली (प्रिंसी)

कोई भी प्रोफेशन महिलाओं के लिए पूरी तरह सुरक्षित नहीं है. फिर चाहे वो मीडिया जगत ही क्यों न हो, जहाँ महिलाएँ खुद ही ऐसी वारदातों का भंडाफोड़ करती रहती हैं. यहाँ भी लड़कियों को कुछ पढ़े लिखे जाहिलों की ओछी हरकतों से दो-चार होना पड़ता है. वारदात दिल्ली स्थित तुगलक रोड थाने की है, जहाँ एक महिला पत्रकार ने समाचार प्लस न्यूज़ चैनल के सी.ई.ओ उमेश कुमार के खिलाफ शादी का झांसा देकर रेप करने का आरोप लगाया है.

पहले काम करने का ऑफर दिया फिर घर बुला बनायें शारीरिक संबंध

महिला का आरोप है की 2016 में वह एक जिम में काम किया करती थीं. इसी दौरान ये महिला समाचार प्लस के सी.ई.ओ उमेश कुमार से हुई थी. दोनों के बीच मुलाकातों का सिलसिला चलता रहा और बात प्यार-मोहब्बत में बदल गई. इसी बीच महिला को उमेश ने अपने चैनल में काम करने का ऑफर दिया, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया. महिला का कहना है कि काम के दौरान ही 6 जून 2017 को उमेश कुमार ने उन्हें अपने घर पर बुलाया और शादी का वादा कर उनके साथ शारीरिक संबंध भी बनाए.

पहले से शादीशुदा थे उमेश, नहीं थी जानकारी

गौरतलब है ऐसा कई बार हुआ. इसी दौरान आरोपी ने 26 अगस्त 2017 को महिला को एक पांच सितारा होटल में बुलाया और महिला के साथ शारीरिक संबंध बनाये. किसी काम के लिए आरोपी उमेश कमरे से बाहर गया तो महिला ने उत्सुकता वश उसके फ़ोन की जांच-पड़ताल की उसमें उमेश की पत्नी और बच्चों की तस्वीर मिली. तब जाकर पता चला कि उमेश पहले से ही शादीशुदा हैं.

रेप की धारा में लिखा गया है केस  

महिला का ये भी आरोप है कि उमेश उन्हें धमका रहे हैं. इस बाबत उन्होंने उमेश के साथ व्हाट्स एप पर हुई बात-चीत का ब्योरा पुलिस को दे दिया है. 17 फरवरी 2018 को महिला ने मैजिस्ट्रेट के सामने अपना बयान दर्ज  करया है. साथ ही होटल में जांच पड़ताल से पता चला है कि होटल में आरोपी उमेश के नाम से कमरा बुक हुआ था. मामले की छान-बीन कर पुलिस ने आरोपी के खिलफ आई.पी.सी की धारा 376 के तहत बलात्कार और 506 के तहत धमकाने का केस रजिस्टर कर लिया है.

सभी आरोपों को झूठा बता महिला को ही कठघरे में खड़ा कर रहे हैं उमेश

आरोपी ने सभी आरोपों को सिरे से नकार दिया है और उसका कहना है कि उसे फंसाया जा रहा है और अगर महिला वाकई न्यूज़ चैनल में काम कर रही थी तो उसके दस्तावेज़ दिखाए. ज़ाहिर है कुछ न कुछ दस्तावेज़ तो ज़रूर मौजूद होंगे. आरोपी उमेश का कहना है कि जिम इंस्ट्रक्टर ने उसे किसी केस के मामले में महिला की मदद करने को कहा था और साथ ही महिला ने उससे पैसे भी मांगे थे, जो कि वो महिला को नहीं दे सका.

गौरतलब है कि कुमार पर कथित तौर पर कुछ पत्रकारों से लेकर नेताओं का समय-समय पर स्टिंग करने के आरोप भी लगे हैं. उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत का वह स्टिंग काफी चर्चा में आया था. इस वीडियो में उमेश कुमार मुख्यमंत्री के चहेते बनकर सरकार को बचाने के लिए जोड़-तोड़ करते दिख रहे हैं. पूरे वाकये को उमेश ख़ामोशी से अपने मोबाइल में कैद भी कर लेते हैं. अब आरोपों में कितनी सच्चाई है ये तो जांच पूरी हिने के बाद ही सामने आएगा, लेकिन किसी भी सूरत में बदनामी की छीटें समाचार प्लस न्यूज़ चैनल के गिरेबान पर भी पड़ेंगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *