जानिए अखिलेश-डिंपल की प्रेम-कहानी

संवाद न्यूज़ ब्यूरो (संवाद स्पेशल)

अखिलेश की जिंदगी पर सुनीता एरन ने एक किताब लिखी है जिसका नाम है ‘अखिलेश यादव- बदलाव की लहर’ जिसमें उन्होंने अखिलेश और डिंपल यादव की प्रेम कहानी के बारे में विस्तार से बताया है…

कहते हैं कि किसी की कामयाबी के पीछे एक औरत का हाथ होता है.

क्या आप जानते हैं उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की कामयाबी के पीछे किसका हाथ है. जी, उनकी धर्मपत्नी डिंपल यादव. जो कि हर वक्त, हर मुसीबत में, हर संघर्ष में उनके साथ आज सालों से खड़ी है. अभी पिछले दिनों जब समाजवादी पार्टी में तमाम पारिवारिक विवाद हुए थे और अखिलेश यादव लगातार तनाव में थे तब, घर पहुंचने पर डिंपल ने हमेशा अखिलेश का साहस बढ़ाया था.

कैसे हुयी मुलाकात

अखिलेश और डिंपल की कहानी बहुत कम लोग जानते हैं, पर यकीन जानिए यह कहानी किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है. अखिलेश यादव की डिंपल यादव से मुलाकात इंजीनियरिंग के दिनों में हुई थी. तब अखिलेश महज 21 साल के थे और डिंपल यादव की उम्र 17 की. डिंपल स्कूल में पढ़ा करती थी और अखिलेश इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे थे.

दोनों की मुलाकात एक ऐसे दोस्त के घर हुई थी जोकि दोनों का दोस्त था. जब दोनों पहली बार मिले थे तो दोनों के बीच में अच्छी खासी बातचीत हुई थी

अखिलेश का ऑस्ट्रेलियाई यूनिवर्सिटी जाना

जब अखिलेश इंजीनियरिंग पूरी कर लिए तो ऑस्ट्रेलियाई यूनिवर्सिटी से मास्टर की डिग्री लेने के लिए सिडनी चले गए लेकिन सिडनी जाने के बाद भी अखिलेश यादव ने हमेशा डिंपल से बातचीत बनाए रखिए डिंपल को लव लेटर लिखना और ग्रीटिंग कार्ड्स भेजना वह कभी नहीं भूलते थे. यह सिलसिला तब तक चला जब तक की वह सिडनी में रहे.
उत्तराखंड के निवासी लेफ्टिनेंट कर्नल एस. पी. रावत की बेटी है डिंपल.

जब डिंपल और अखिलेश की लव स्टोरी चल रही थी तब उत्तराखंड में पहाड़ी विद्रोह की आग सुलग रही थी, डिंपल जहां रहती थी वहां के लोग मुलायम सिंह के विरोधी थे और वह किसी भी कीमत पर इस रिश्ते को स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं थे.

दूसरी तरफ मुलायम सिंह भी इस रिश्ते के लिए बहुत ज्यादा तैयार नहीं थे जब अखिलेश ने मास्टर की डिग्री ले ली और सिडनी से वापस लखनऊ लौटे तब मुलायम सिंह ने उनसे एक सवाल किया- शादी कब करोगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *