अखिलेश ने बढ़ाया विकास की तरफ एक कदम, खजांची के गांव को लिया गोद

संवाद न्यूज (हिमांशु राय)

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने नोटबंदी  के दौरान पैदा हुए खजांची के गांव को गोद ले लिया है। अखिलेश उसके गांव को पूर्ण सुविधा संपन्न ‘समाजवादी विकास गांव’ बनाएंगे।

सपा के राष्ट्रीय सचिव राजेंद्र चौधरी ने सोमवार को बताया, “नोटबंदी के दौरान बैंक की लाइन में जन्मे बच्चे खजांची का दो दिसम्बर को जन्मदिन था। कानपुर देहात के गांव अनंतपुरवा निवासी खजांची के जन्मदिन में पार्टी मुखिया व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी शामिल हुए थे और उसे गोद में लेकर आशीर्वाद दिया था।”

चौधरी ने बताया, “जन्मदिन मनाने के बाद सोमवार को पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने खजांची के गांव अनंतपुरवा तहसील डेरापुर जिला कानपुर देहात को भी गोद लेने का फैसला किया है। 

अनंतपुरवा को अखिलेश ‘समाजवादी विकास गांव’ बनाएंगे। इस गांव का विकास कर पूर्ण सुविधा संपन्न बनाया जाएगा।” दो दिसम्बर, 2016 को डेरापुर तहसील के झींझक में पंजाब नेशनल बैंक में नोटबंदी के दौरान लाइन में लगे रहने के दौरान महिला ने बच्चे को जन्म दिया था।

घरवालों ने देश के तत्कालीन आर्थिक परिदृश्य के असर में बच्चे का नाम खजांची रखा। तब की समाजवादी सरकार ने उसके परिवार को लोहिया आवास भी दिया था।चौधरी ने कहा कि भाजपा नोटबंदी के तमाम फायदे गिनाती है, लेकिन अभी तक खजांची और उसके मां-बाप का एक खाता भी नहीं खुल पाया है और न कोई सरकारी सुविधा मिली है।उन्होंने कहा कि यही है भाजपा की नोटबंदी का सच।