आखिर एग्जिट पोल आने के बाद RSS महासचिव ने मोदी से नहीं नितिन गडकरी से की मुलाकात !

लोकसभा चुनाव ख़त्म होने के बाद आए एग्जिट पोल से बीजेपी की सरकार बनती हुई नजर आ रही हैं। इसी के चलते बीजेपी और आरएसएस के बीच हलचल तेज हो गई हैं. लोकसभा 2019 का चुनाव एक बार फिर नरेंद्र मोदी के नाम पर लड़ा गया हैं

लेकिन दरअसल हुआ ऐसा कि सोमवार को आरएसएस के महासचिव भैयाजी जोशी ने मोदी से नहीं बल्कि बीजेपी के लोकप्रिय और संघ से जुड़े नेता नितिन गडकरी से मुलाकात की हैं। तो क्या इस मुलाकात के बाद ये संभव है कि, संघ परिवार में दूसरे नंबर के नेता का गड़करी से मिलना केंद्र की सत्ता में नया संकेत है या नहीं अभी अंदाजा लगाना मुश्किल हैं

नितिन गड़करी मोदी सरकार के उन मंत्रियों में से एक हैं जिनके मंत्रालय ने सबसे अच्छा काम किया है। पिछले दिनों दबे कान ही सही मगर नितिन गड़करी का नाम प्रधानमंत्री पद के लिए उड़ा था। अब 23 मई को परिणाम जो भी आएं। अगर बीजेपी NDA की कम सीटें आती हैं तो क्या संघ परिवार नितिन गड़करी का नाम आगे करेगा?

लेकिन, बीजेपी को अगर बढ़त मिल रही है वो सरकार बनाने जा रही है, तो फिर भैयाजी जोशी नितिन गड़करी से क्यों मिल रहे हैं? जबकि सभी को पता है कि बीजेपी में RSS के इशारे के बिना एक तिनका भी नहीं हिल सकता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.