निर्भया गैंगरेप मामले में 22 जनवरी सुबह 7 बजे होगी चारों दोषियों को फांसी, डेथ वॉरंट जारी

  • दोषियों के वकील ने कहा- हम सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव याचिका दाखिल करेंगे
  •  निर्भया के पिता ने कहा कि मैं अदालत के फैसले से खुश हूं
  • स्वाति मालीवाल ने कहा कि इस फैसले का जोरदार स्वागत करते हैं
  • कांग्रेस नेता सुष्मिता देव ने कहा कि निर्भया को न्याय मिला है

निर्भया गैंगरेप मामले में दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने मंगलवार को चारों दोषियों का डेथ वॉरंट जारी कर दिया गया. इन चारों को 22 जनवरी की सुबह 7 बजे फांसी पर लटकाया जाएगा.

इससे पहले पटियाला हाउस कोर्ट के जज ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चारों दोषियों से बात की. इस दौरान मीडिया को भी अंदर नहीं जाने दिया गया. सुनवाई के दौरान निर्भया की मां और दोषी मुकेश की मां कोर्ट में ही रो पड़ीं. गौरतलब है कि निर्भया मामले में चारों दोषियों अक्षय, मुकेश, विनय और पवन को पहले ही फांसी की सजा दी जा चुकी है.

दक्षिणी दिल्ली के मुनिरका बस स्टॉप पर 16-17 दिसंबर, 2012 की रात अपने दोस्त के साथ एक खाली प्राइवेट बस में चढ़ी 23 वर्षीय पैरामेडिकल छात्रा के साथ छह लोगों ने मिलकर चलती बस में गैंगरेप किया और लोहेकी रॉड से क्रूरता की सारी हदें पार कर दीं. छात्रा के दोस्त को भी बेरहमी से पीटा गया. बाद में दोनों को महिपालपुर में सड़क किनारे फेंक दिया गया. पीड़िता 29 दिसंबर, 2012 को सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ अस्पताल में छात्रा की मौत हो गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *