भष्टाचार की वजह से लिप्त हुई तरबगंज विधानसभा क्षेत्र की इस सड़क का हाल बेहाल!,आए दिन हो रही दुर्घटना

संवाद न्यूज़ (हिमांशु की रिपोर्ट)

भष्टाचार मुक्त भारत, चौकीदार जाग रहा हैं, गड्ढ़ा मुक्त उत्तरप्रदेश , अरे साहब अगर ये सब कुछ हो गया हैं तो इस सड़क का इतने दिनों से ऐसा हाल क्यों हैं. केंद्र में मोदी सरकार, राज्य में बीजेपी सरकार, और लोकसभा में बीजेपी सांसद इसके बाद ये हाल हैं इस सड़क का.

दरअसल ये पूरा मामला यूपी के गोण्डा ज़िले के कैसरगंज लोकसभा क्षेत्र के विधानसभा क्षेत्र तरबगंज का हैं जहा तरबगंज थाने के बगल से बनी सड़क जो माझा क्षेत्र अमदही बन्धा पर जाकर मिलती है। और हज़ारों लोगों का आवागमन रोज जारी रहता हैं. जिससे लोगों को बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ता हैं. प्रधानमंत्री सड़क योजना के अंतर्गत इस सड़क को वर्ष 2015 में बनाया गया था. लेकिन 1 साल के बाद से ही इस सड़क का हाल बेहाल होने लगा और अब ये सड़क बिलकुल ख़त्म हो चुकी हैं. जिस पर न तो सांसद बृजभूषण शरण सिंह की नजर और न तो यूपी सरकार के विधायक मंत्री और अधिकारी की नजर हैं . आखिर ऐसा क्यों ?

 

अब इस सड़क का हाल ये हुआ कि सड़क टूटते टूटते गडढ़ो में तबदील हो गयी, जिस पर कई दुर्घटना का सामना लोगों को करना पड़ता हैं.अगर आप इस सड़क पर थोड़ा सा भी ध्यान हटाए तो आप को बड़ी दुर्घटना का सामना करना पड़ सकता हैं। वही ग्रामीण लोगों का कहना हैं कि चौकीदार जाग रहा हैं तो फिर कैसे ठेकेदारों ने चोरी कर ली सड़क बनाते समय. इस सड़क को देखने के बाद पता चलता हैं कि ठेकेदारों ने इसको बनाते समय काफी भष्टाचार किया गया !

जबकि तरबगंज विधानसभा के एक तिहाई लोग इसी सड़क से आते जाते है।और बाढक्षेत्र होने के कारण सभी जिम्मेदार अधिकारी भी इसी सड़क से निकलते है लेकिन इस सड़क से किसी का कोई वास्ता नही है।

बल्कि मोदी सरकार ने अब सड़क को सही करने या सड़क बनवाने के लिए काफी काम किया हैं। लेकिन क्या ठेकदारों के ऊपर करवाई होनी चाहिए संवाद न्यूज़ इस खबर को सरकार के पोर्टल “मेरी सड़क” तथा सड़क और परिवहन मंत्री माननीय नितिन गडकरी तक पहुंचाने का कार्य करेगा. जिससे कि इस सड़क की मरम्मत जल्द से जल्द कराई जा सके और अगर इसमें भष्टाचार हुआ हैं तो उन पर कठोर से कठोर करवाई हो सके

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत आप अपने गांव की सड़क भी सही करा सकते हैं। जिसके लिए सरकार ने ‘मेरी सड़क’ के नाम से एक सरकारी ऐप जारी किया है। अगर आपके गांव की सड़क अभी तक नहीं बनाई गई है या फिर किसी कारण खराब हो गई है तो आप इस ऐप के जरिए सीधे प्रधानमंत्री से शिकायत कर सकते हैं। मगर ध्यान रहे कि वही खराब सड़कें सही होंगी जो प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत बनाई गई हैं।


संवाद न्यूज़ के सवाल

  1. क्या गोण्डा के अधिकारियों को इस बात की कोई जानकारी नहीं हैं ?
  2. अगर जानकारी हैं तो इस पर करवाई कब तक ?
  3. क्या नेताओं को सिर्फ वोट बैंक की राजनीति से मतलब हैं ?
  4. क्या तरबगंज विधायक को इन सड़कों की हालत नहीं दिखाई देती हैं ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *