पति की शहादत के बाद लिया था फैसला, लेफ्टिनेंट बनने जा रही हैं शहीद मेजर की पत्नी !

हमारे वीर जवान अपनी देश की रक्षा करने के लिए देश के लिए शहीद हो जाते है. उनकी इस शहादत को देखकर पूरा देश रो जाता है लेकिन कुछ दिन बाद सब जस का तस हो जाता है शहीद हुए परिवार के लोगो का दर्द कोई नहीं समझ सकता, उनको किसी अपने का जाने का दर्द ज़िंदगी भर रहता है. अभी पुलवामा हमले में हमारे कई जवान देश के लिए शहीद हो गए.जब कोई शहीद हो जाता है तो उसका परिवार उजड़ जाता है.

Photo Source- Social Media

लेकिन आज हम आपको एका ऐसी महिला के बारे में बताने जा रहे है जिसने अपने पति के शहीद हो जाने के बाद अपने दर्द से ऊपर उठकर दिखाया है.महाराष्ट्र के रहने वाले शहीद मेजर प्रसाद महादिक की पत्नी ने गौरी महादिक ने पति के जाने के बाद हिम्मत नहीं हारी और भारतीय सेना में शामिल होने की तैयारियों में जुट गईं. गौरी ने खुद के भारतीय सेना में शामिल होने को लेकर कहा कि यह पति के लिए श्रद्धांजलि है.

Photo Source- Social Media

ANI से बातचीत के दौरान गौरी महादिक ने कहा, है कि उनके शहीद होने के दस दिन बाद मैं इस सोच मैं पड़ गई थी कि अब मैं क्या करूंगी. मैं चुपचाप बैठकर रो नहीं सकती हूं, क्योंकि वो हमेशा चाहते थे कि मैं खुश रहूं. उन्हें मेरी स्माइल बहुत पसंद थी, इसलिए मैंने फैसला किया कि मैं उनके लिए जरूर कुछ करूंगी. मैंने निश्चय कर लिया था कि मैं सेना ज्वाइन करूंगी और उनकी वर्दी पहनूंगी.”

Photo Source- Social Media

गौरी महादिक ने सर्विस सिलेक्शन बोर्ड की परीक्षा पास की है और अप्रैल, 2019 में उनकी सैन्य ट्रेनिंग शुरू हो जाएगी जिसके एक साल की ट्रेनिंग पूरी करने के बाद गौरी सेना में लेफ्टिनेंट के तौर पर शामिल होंगी. बता दें कि 30 दिसंबर, 2017 में मेजर प्रसाद महादिक अरुणाचल प्रदेश में इंडो चाइना बोर्डर के पास एक हादसे में शहीद हो गए थे.

(Input from Various Source)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *